रिश्तों में दरार आई ,
रिश्तों में दरार आई…
बेटे ना रहे बेटे |
भाई ना रहे भाई ,
रिश्तों में दरार आई ||

परखा है लहू अपना, बरता है ज़माने को |
तूफ़ान में कोई भी, आया ना बचाने को |
साहिल पे नज़र आये , साहिल पे नज़र आये |
कितने ही तमाशाई |
रिश्तों में दरार आई .. ||

ढूंढें से नहीं मिलता , राहत का जहाँ कोई |
टूटे हुए खाबों को, ले जाये कहाँ कोई |
हर मोड़ पे होती है ,हर मोड़ पे होती है |
एहसास की रुसवाई (Stigmatization) |
रिश्तों में दरार आई .. ||

ज़ख्मों से खिली कलियाँ , अश्कों से मिली शबनम |
पतझड़ के दरीचे से , आया है नया मौसम |
रातों की सियाही से , रातों की सियाही से |
ली सुबहों ने अंगड़ाई |
रिश्तों में दरार आई.. ||

English :-

Rishton me darar aayi,
Rishton me darar aayi…
Bête na rahe bête,
Bhai na rahe bhai,
Rishton me darar aayi…

Parkha hai lahu aapna, barta hai zamane ko…
Toofaan me koi bhi, aaya na bachane ko…
Saahil pe nazar aaye, Saahil pe nazar aaye
Kitne hi tamashai…
Rishton me darrar aayi…

Dhoonde se nahi milta, rahat ka jahan koi..
Tooten hue khaabon ko, le jaaye kahan koi
Har mod pe hoti hai, har mod pe hoti hai…
Ehsas ki roosvaii (Stigmatization)…
Rishton me darar aayi…

Zakhmon ki khili kaliyan, ashkon se mili shabnam…
Patjhar ke dareeche se, aaya hai naya mausam
Raaton ki siyahi se, raaton ki siyahi se …
Li subha ne angdai…
Rishton me darar aayi…

error: Content is protected !!